Wednesday, November 14, 2012

उसका  साथ मुझे सिर्फ़ एक सपना सा लगा ,
मेरा ग़म मुझे आज बहुत अपना सा लगा ,
दिल की गहराइयों में बस गया था शख्स कोई जो ,
पास रहकर भी वोह आज बहुत  अंजाना सा लगा ...